logo

Chane ki dal se bana nasta, new snack, tea time snack

  • Chane ki dal se bana nasta, new snack, tea time snack

Share This

  • Cuisine : Chattishgarh
  • Course : snacks

ये छत्तीसगढ़ का एक पारम्परिक नाश्ता है इसे ददोरी कहा जाता है, पितृपक्ष के दिनों में इसे खास तौर पर बनाया जाता है |चने की दाल को भिगो कर चावल के आटे और चटनी के सांथ मिला कर बहुत ही क्रिस्पी और स्वादिष्ट नाश्ता बनकर तैयार होता है | बहुत आसान तरीके से और बहुत ही आसान तरीके से ये नाश्ता बनता है ये इतने स्वादिष्ट होते है की इनको खाने के लिए किसी अचार, चटनी की जरुरत नहीं होती है.


Ingredients

    1 कप चने की दाल (2 से 3 घंटे के लिए भिगो दें )
    1 कप + 2 बड़े चम्मच चावल का आटा
    1 कप + 1/3 कप पानी
    नमक 1 + 1/4 छोटे चम्मच 
    चटनी की सामग्री 
    4 हरी मिर्च
    7 से 8 लहसुन की कलियाँ
    1 इंच अदरक
    1/2 छोटे चम्मच जीरा
    1/2 छोटे चम्मच हल्दी
    1/2 छोटे चम्मच लाल मिर्च पाउडर
    2 बड़े चम्मच पानी

    3/4 कप ऑइल( तलने के लिए )
      
      

Recipe By

Method

  • चने की दाल को भीग जाने के बाद पानी निकाल दें,चावल आटा डालदे|

    चटनी की सामग्री को छोटे जार में डालकर चिकना पीस लें |

    पीसी हुई चटनी, नमक, हल्दी, मिर्च को चना दाल में डालें |

    पानी डालकर घोल तैयार करें, घोल बहुत पतला और बहुत गाढ़ा नहीं होना चाहिए, बताये गए मात्रा में ही पानी डालें |

    एक लाहे की कड़ाई या पैन में थोड़ा तेल डालें 3/4 कप (इसे फ्राई करने के लिए एकदम कम तेल डाला जाता है |

    तेल को एकदम गर्म होने दें तेज गर्म तेल में घोल को मिक्सकरते हुए, एक छोटे कप चना दाल मिक्सचर लें और गर्म तेल में बीचो - बिच डालदे, कम तेल की वजह से डाला गया घोल फैल कर एक गोल छत्ते जैसा हो जायेगा |

    आंच को तेज रखें, अच्छे से सिकने दें जब किनारो से चारो तरफ से सिका हुआ दिखाई देने लगे तो पलटे से निकाल लें अगर बिच नहीं सिका है तो, आंच धीमा करके क्रिस्पी होने तक फ्राई करें, क्रिस्पी होने पर तेल को निथारते हुए निकालें |

    दूसरा ददौरा बनाने के लिए तेल को अच्छे से गर्म होने दें, धुआँ निकालते हुए तेल में वैसे ही डालकर फ्राई करें |

    टिप्स
    तेल एकदम गर्म होना चाहिए बैटर डालने के टाइम, डालते ही वो ठंडा हो जाता है |

    अगर बैटर एक जगह इकठ्ठा हो जा रहा है फैलकर नहीं रहा इसका मतलब तेल ज्यादा है कड़ाई में, तेल को कम कर दें |

    ऑइल वाली कड़ाई में बनाएं, जिससे निचे चिपके नहीं |

     एक जैसी कटोरी में दाल, आटा और पानी को नापकर डालें |

    अगर नर्म खाना है तो इसे नर्म निकाल सकते है, क्रिस्पी खाना है तो ज्यादा देर तक फ्राई करें दोनों तरह से बनाया जा सकता है |

    बैटर को बहुत ज्यादा गाढ़ा या पतला ना बनायें |

    इसे एक ही तरफ से सेका जाता है पलट कर कर सेकने की जरुरत नहीं पडती है |